1 अप्रैल से बदल जायँगे टैक्स और बैंकिंग के नियम
1 अप्रैल से बदल जायँगे टैक्स और बैंकिंग के नियम

1 अप्रैल से बदल जायँगे टैक्स और बैंकिंग के नियम

 

1 अप्रैल से न्यू फाइनेंशियल ईयर की शुरुआत हो रही है। इस शुरुआत के साथ नौकरी वाले , पेंशनर धारी, सामान्य लोगों, और बैंकिंग और ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े कई नियमो में बदलाव हो जायेगा । इन बदलाव का असर सीधा आप पर पड़ेगा।

1. EPF से प्राप्त होने वाले ब्याज पर टैक्स देय

सरकार बजट 2021-22 में वर्कर्स प्रोविडेंट फंड (EPF) से प्राप्त होने वाले ब्याज पर टैक्स की घोषणा की गई थी। एक वित्त वर्ष में 2.5 लाख रूपये तक EPF खाते में इन्वेस्ट ही टैक्स फ्री होगा। उससे अधिक इन्वेस्ट करने पर अतिरिक्त पैसे पर ब्याज से होने वाली कमाई पर टैक्स देय होगा। आपने अगर 3 लाख रुपये प्रतिवर्ष निवेश किया है। तो अतिरिक्त जमा 50 हजार रुपये पर ब्याज से जो कमाई होगी उस पर आपकी टैक्स स्लैब की दर से टैक्स लगेगा।

2. पोस्ट ऑफिस खाते से ट्रांजेक्शन पर चार्ज कटेगा

आपका खाता इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) में है तो आपको 1 अप्रैल 2021 से पैसे जमा करने या निकालने के अतिरिक्त आधार आधारित पेमेंट सिस्टम (AEPS) पर चार्ज देय होगा। यह चार्ज फ्री लेनदेन सीमा के समाप्त होने के पच्छात लिया जायेगा। अगर आपके लेनदेन की फ्री सीमा समाप्त होगी। तब ही यह चार्ज देना होगा।

3. प्री-फिल्ड इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म

कर्मचारियों की सुविधा के लिये और इनकम टैक्स रिटर्न फील करने की प्रकिया को सरल बनाने के लिये पर्सनल टैक्सदाता को अब 1 अप्रैल 2021 से प्री-फिल्ड इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म मुहैया करवाया जायेगा। इससे इनकम टैक्स रिटर्न फील करना सरल हो जायेगा।

4. सुपर सीनियर सिटिजंस को राहत

1 अप्रैल 2021 से 75 साल से अधिक उम्र के नागरिकों को इनकम टैक्स रिटर्न फील नहीं करना होगा। यह राहत सिर्फ उन सीनियर सिटिजंस को दी गई है जो पेंशन या फिर फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज पर निर्भर हैं।

5. पगार से जुड़े नियमों में परिवर्तन

1 अप्रैल से पगार का नया नियम लागू करने की तैयारी में है। नया नियम लागू होते ही आपकी पगार में परिवर्तन होंगे। नये नियम के अनुसार आपको इन हैंड मिलने वाली पगार में वेतन का शेयर आधा होना चाहिये । बेसिक पगार, महंगाई भत्ता और रिटेनिंग अलाउंस को मिलाकर मिलने वाली पगार आपकी पगार का आधा होना चाहिये। 1 तारीख से आपके पगार स्लैब में परिवर्तन हो जायेगा।

6. इनकम टैक्स रिटर्न फील नहीं करने पर दुगुना TDS

सरकार ने इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरने वालों के लिये नियम काफी कठौर किये हैं। सरकार ने इसके लिये इनकम टैक्स एक्ट में सेक्शन 206AB जोड़ दिया है। इस नियम के अनुसार अब इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरने पर 1 अप्रैल, 2021 से दुगुना TDS देना होगा। नये नियमों के अनुसार जिन लोगो ने इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरा सरकार उन पर टैक्स कलेक्शन ऐट सोर्स (TCS) भी अधिक लगेगा। नये नियमों के मुताबिक 1 जुलाई 2021 से पीनल TDS और TCL दरें 10-20% होंगी जो कि आमतौर पर 5-10% होती हैं।

7. 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों को लगेगी कोरोना वैक्सीन

सरकार ने एक और घोषणा की है। इसमें एक अप्रैल से 45 वर्ष और इससे अधिक उम्र के सभी लोग कोरोना वैक्सीनेशन के दायरे में आएंगे। उसके लिये कोविन पोर्टल पर उन्हें अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। उसके पच्छात वे लोग सरकारी या प्राइवेट सेंटर पर जाकर टीका लगवा सकेंगे

8. ओरिएंटल बैंक और यूनाइटेड बैंक की चेकबुक और IFSC कोड में बदलाव

पंजाब नेशनल बैंक ने सुचना दी है कि ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की पुरानी चेकबुक और IFSC/MICR Code सिर्फ 31 मार्च तक ही मान्य रहेंगे। इसके पच्छात सभी गाहको बैंक से नया कोड और चेकबुक मिल जायेगा । ग्राहक अधिक सुचना के लिए टोल फ्री नंबर 18001802222/18001032222 पर फोन कर जानकारी हासिल कर सकते हैं। 1 अप्रैल 2020 को सरकार ने पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया को मर्ज कर दिया था।

9. नॉन-सैलरीड क्लास को देना होगा अतिरिक्त TDS

1 अप्रैल से नॉन-सैलरीड क्लास लोगों फ्रीलांसर्स, टेक्निकल सपोर्टर्स की जेब पर अतिरिक्त टैक्स का भार पड़ने वाला है। अभी तक इन लोगो को अपनी कमाई में से 7.5% टीडीएस के रूप में देना होता था लेकिन अब इन्हें 10% TDS देना होगा।

10. कार में ड्यूल एयर बैग होगा अनिवार्य

1 अप्रैल से गाड़ियों में सेफ्टी मानकों में परिवर्तन हो रहे हैं। अब ड्राइवर के साथ-साथ पास वाली सीट के लिए भी एयरबैग लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

http://www.bzoomba.com/wp-content/uploads/2021/03/things-that-will-change-from-1-april-1024x744.jpghttp://www.bzoomba.com/wp-content/uploads/2021/03/things-that-will-change-from-1-april-150x150.jpgShubammiscellaneous2021,banking,new financial year,tax1 अप्रैल से बदल जायँगे टैक्स और बैंकिंग के नियम   1 अप्रैल से न्यू फाइनेंशियल ईयर की शुरुआत हो रही है। इस शुरुआत के साथ नौकरी वाले , पेंशनर धारी, सामान्य लोगों, और बैंकिंग और ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े कई नियमो में बदलाव हो जायेगा । इन बदलाव का असर...Entertainment Guaranteed